∗हीरे सम जीवन∗ – Inspirational story – “पत्थर सम हीरे” हीरा स्वयं बोलकर नहीं बता सकता है कि उसकी कीमत कितनी है. उसकी कीमत लोगों को तरासने के बाद अच्छी तरह समझ में आती है. इसी तरह हमारा जीवन अपने आप नहीं बोलेगा कि इसकी कीमत कितनी है. हीरे की तरह यह मानव जीवन भी