Category: प्रेरणादायक कहानियाँ

शिवाजी के प्रेरक प्रसंग Prerak prasang Shivaji

∗शिवाजी के प्रेरक प्रसंग∗ शिवाजी जन्म जयंती 19 फ़रवरी – पुण्य तिथि 3 अप्रैल. 1. शिवाजी का अनिंद्य सुन्दरी गौहर बानू के प्रति असीम सम्मान जब शिवाजी ने 1659 ई. के अंत में कल्याण दुर्ग पर विजय प्राप्त की. तत्कालीन परंपरा के अनुसार विजेता का अधिकार विजित की महिलाओं पर भी होता था. गौहर बानू

शिवाजी का आगरा जेल से फलों की टोकरियों में निकलना Wisdom Story

∗शिवाजी का आगरा जेल से फलों की टोकरियों में निकलना∗   शिवाजी महाराज को समाप्त में अफजल खाँ, सिद्दी जौहर व औरंगजेब के मामा शाइस्ता खाँ के अभियान फ़ैल हो जाने पश्चात चौथा अभियान आगरा किले की जेल में रचा गया. बहिर्जी नाईक की गुप्तचर सूचनाओं के आधार पर आमजन को परेशानी में डाले बिना सूरत

शिवाजी और शाइस्ता खाँ Courageous Story

∗शिवाजी और शाइस्ता खाँ∗    (6 अप्रैल 1663 को : सूर्यास्त होने वाला था. शिवाजी के सब सैनिक अलग-अलग योजना से पुणे में घुसे.) 1. आदिलशाह द्वितीय की औरंगजेब अपील : शिवाजी द्वारा अफजल खाँ का वध करने के बाद आदिलशाह द्वितीय ने सिद्दी जौहर के नेतृत्व में शिवाजी को समाप्त करने के उद्देश्य से

गौतम बुद्ध के प्रेरक प्रसंग Inspirational stories

∗गौतम बुद्ध के प्रेरक प्रसंग∗ 1. तुम कब रुकोगे? – मगध राज्य में एक सोनापुर नाम का गाँव था. उस गाँव के लोग शाम होते ही अपने घरों में आ जाते थे. और सुबह होने से पहले कोई घर के बाहर कदम भी नहीं रखता था. इसका कारण एक खूंखार डाकू था. डाकू मगध के

शिवाजी और सिद्दी जौहर Great Sacrifices Story

∗शिवाजी और सिद्दी जौहर∗   — शिवाजी कासिद, पन्हालगढ़ — 1. अफजल खाँ की शिकस्त के बाद : छत्रपति शिवाजी महाराज ने अफजल खाँ को प्रतापगढ़ में मारने के बाद आदिलशाही में आक्रमण कर पन्हालगढ जैसे महत्त्वपूर्ण गढ़ पर कब्ज़ा कर लिया. तब आदिलशाह द्वितीय ने सिद्दी जौहर को “सलाबत जंग”, खटाव प्रांत की सेना

अफज़ल खाँ और शिवाजी Courageous Story

∗अफज़ल खाँ और शिवाजी∗ 1 नवम्बर 1656 को बीजापुर के सुल्तान आदिलशाह की मृत्यु हो गई. इससे बीजापुर में अराजकता का माहौल पैदा हो गया. इस स्थिति का लाभ उठाकर औरंगज़ेब ने बीजापुर पर आक्रमण कर दिया और शिवाजी ने औरंगजेब का साथ देने की बजाय उस पर धावा बोल दिया. फलस्वरूप औरंगजेब शिवाजी से

बूमरैंग से बचें : व्यक्तित्व विकास का अचूक फ़ॉर्मूला

∗बूमरैंग से बचें∗   .बूमरैंग. सौजन्य – Google Imaze. बूमरैंग आस्ट्रेलिया के आदिवासियों द्वारा प्रयुक्त एक मुड़ा हुआ बाण जो फेंकने वाले के पास लौट आता. अच्छी न लगने वाली बात या अव्यवहारिक बात या बुरी बात के जवाब में की गयी प्रतिक्रिया (Reaction) बूमरैंग (BOOMERANG) की तरह है. ऐसी प्रतिक्रिया से कोई सकारात्मक परिणाम नहीं

जहाँ चाह, वहाँ राह – Gautam Buddha story in Hindi

 ∗जहाँ चाह, वहाँ राह∗ होनहार बिरवान के होत चीकने पात. केवल इतने से ही सब कुछ नहीं हो जाता है. अगर व्यक्ति अपनी अभिरुचि के अनुसार प्रयास करता है, तो परस्थितियाँ कहें या भगवान कहें उसका साथ जरुर देते हैं. गौतमबुद्ध के सिद्धार्थ से बुद्ध बनने के सफर की कहानी कुछ ऐसी ही है. उनके

Guru Nanak Dev Quotes in Hindi गुरु नानक देव के अनमोल विचार

∗गुरु नानक देव के अनमोल विचार∗ (Guru Nanak Gurpurab – 14 November 2016, 04 November 2017) “Nanak naam jahaz hai, Chadhe so utre paar.” नानक नाम जहाज है, चढ़े सो उतरे पार। जो शरधा कर सेव दे, गुर पार उतारन हार॥ Quote 1. : Your Mercy is my social status. — Guru Nanak Dev In

सरदार वल्लभभाई पटेल : 3 प्रेरक प्रसंग

∗सरदार वल्लभभाई पटेल : 3 प्रेरक प्रसंग∗ (31 अक्टूबर, 1875 – 15 दिसम्बर, 1950) प्रेरक प्रसंग 1. : सरदार पटेल – सादगी और नम्रता की प्रतिमूर्ति थे. सरदार पटेल भारतीय लेजिस्लेटिव ऐसेंबली के President थे. एक दिन वे ऐसेंबली के कार्यो से निवृति होकर घर जाने को ही थे कि, एक अंग्रेज दम्पत्ति वहां पहुंच